Breaking

Intorduction to html | HTML in hindi- Mind Techs Tutorials

how to learn html, Itroduction - HTML IN HINDI
html in hindi

HTML सन 1991 में Tim Berners-Lee ने बनाए थे HTML के द्वारा किसी भी इंफॉर्मेशन को वर्ल्ड वाइड वेब (WWW) पर आकर्षक और सुंदर तरीके से प्रजेंट किया जाता है
आइए सबसे पहले हम HTML IN HINDI, how to learn html के बारे में जान लेते हैं HTML को फुल फॉर्म में Hyper Text Markup Language कहते हैं इसका इस्तेमाल किसी भी पेज को बनाने में किया जाता है और उस पर पेज को कलर और रंग देने के लिए CSS का प्रयोग किया जाता है यह भाषा कंप्यूटर की अन्य भाषा जैसे C, C++, JAVA आदिसे सरल होती है और इसे कोई भी आम व्यक्ति आसानी से सीख सकता है वह भी कम समय में HTML के द्वारा कोई भी वेबसाइट बन जाने के बाद जब वह सरवर पर अपलोड हो जाती है तो उसे दुनिया का कोई भी व्यक्ति इंटरनेट के माध्यम से उस वेबसाइट पर जाकर विजिट कर सकता है और उसे देख सकता है HTML एक platform independent language है जिसका इस्तेमाल किसी भी प्लेटफार्म पर किया जा सकता है
जैसे विंडोज, लाइनेक्स आदि।

What is HTML (HTML क्या है)



HTML के द्वारा किसी भी वेबसाइट के वेब पेज को बनाया जाता है और उसके design और style को CSS के द्वारा डिजाइन किया जाता है और उसके साथ जावास्क्रिप्ट का भी प्रयोग किया जाता है जावास्क्रिप्ट वेब पेज me logic add करने के लिए जाता है HTML के द्वारा आप सिर्फ वेब पेज के फ्रेम को तैयार कर सकते हैं और सिंपल टेक्स्ट लिख सकते हैं आप उसे डिजाइन और कलर नहीं कर सकते यह करने के लिए आपको HTML के साथ-साथ CSS का भी प्रयोग करना होगा। HTML छोटे-छोटे Code के series से मिलकर बना होता है जिसे हम tags कहते हैं tags ब्राउज़र को यह बताता है कि किसी भी tags के अंदर जो चीज लिखा है उसे कहां और कैसे show करना है HTML Tags यूज करते हुए आप एक वेब पेज बनाते हैं वेव पेज में आपके द्वारा ऑडियो वीडियो इमेज टेक्स्ट आदि elements को ऐड कर सकते हैं वेब डिजाइनिंग के क्षेत्र में HTML Language को ही सबसे पहले सिखाया जाता है

All HTML Versions (HTML के सभी वर्शन)


अब तक HTML लैंग्वेज के कई वर्जन इंडस्ट्री में आ चुके हैं और हर वर्जन में कुछ नए एक्स्ट्रा फीचर्स ऐड किए जाते हैं जिनके बारे में नीचे डीटेल में बताएं गया है

HTML 1.0

यह HTML Language का पहला वर्जन था इस वर्जन में आप एक सिंपल टेक्स्ट के साथ वेब पेज क्रिएट कर सकते थे और इसके अलावा आप कुछ भी नहीं कर सकते थे इस वर्जन मे HTML Language की लिमिट बहुत ज्यादा थी और इस लैंग्वेज के बारे में उस समय कोई जानता भी नहीं था

HTML 2.0

इस वर्जन में HTML 1.0 वर्शन के सभी फीचर्स थे और इस वर्जन के साथ ही वेबसाइट डिवेलप करने की बुनियादी माध्यम बन चुकी थी

HTML 3.0

इस वर्जन के आने तक HTML Language बहुत ही ज्यादा पॉपुलर हो चुकी थी इस वर्जन में Browser के साथ compatibility problem होने से इस वर्जन को रोक दिया गया लेकिन बाद में इसे कुछ एडवांस tags और features के साथ लाया गया।

HTML 3.2

इस वर्जन में पिछले वर्जन के बाद कुछ और tags add किए गए ये वो समय था जब w3c ने Website development करने के लिए HTML Language को स्टैंडर्ड लैंग्वेज घोषित किया थे। इसका प्रयोग लिमिट नहीं था इसका उपयोग अब व्यापक स्तर पर भी किया जाने लगा था।

HTML 4.01

इस वर्जन में कुछ नए tags के साथ cascading style sheet (CSS) का भी introduce किया गया इस समय HTML एक modern language बन चुकी थी।

HTML 5.0

ये html का letest version है इसमें मल्टीमीडिया सपोर्ट के लिए कुछ एक्स्ट्रा tags ऐड किए गए है।

XHTML

ये वर्जन HTML 4.01 के बाद आया था इस वर्जन में HTML Language के साथ-साथ XML Language का भी प्रयोग किया जाने लगा।


 


HTML Structure in Hindi



Post a Comment

0 Comments